Homeदेशधान मिलिंग एवं निस्तारण के लिए गठित मंत्रि-मंडलीय उप समिति की बैठक...

धान मिलिंग एवं निस्तारण के लिए गठित मंत्रि-मंडलीय उप समिति की बैठक संपन्न

धान मिलिंग के लिए प्रदेश के बाहर के मिलर्स आमंत्रित

Dhan Mixing एवं निस्तारण के लिए गठित मंत्रि-मंडलीय उप समिति की बैठक संपन्न

खरीफ वर्ष 2020-21 के लिए धान उपार्जन एवं निस्तारण के लिए प्रदेश के बाहर के मिलर्स को आमंत्रित किया जाएगा।

धान एवं निस्तारण के लिए गठित मंत्रि-मंडलीय उप समिति की बैठक में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री Bisahu Lal Singh ने बताया कि इस संबंध में शीघ्र ही विज्ञापन जारी कर मिलर्स को आमंत्रित किया जाएगा।

समिति की बैठक में वित मंत्री श्री Jagdish Devda, कृषि मंत्री श्री Kamal Patel, सहकारिता मंत्री श्री अरविन्द भदौरिया एवं आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल-संसाधन राज्य मंत्री श्री रामकिशोर काँवरे ने वर्चुअली भाग लिया ।

प्रोत्साहन राशि में की दोगुनी वृद्धि

खाद्य मंत्री श्री सिंह ने बताया कि विगत दिनों मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के साथ हुई चर्चा में मिलर्स द्वारा प्रोत्साहन राशि को 25 रुपये प्रति क्विंटल से बढाकर 50 रूपये किए जाने का अनुरोध किया था। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा प्रोत्साहन राशि 50 रुपये प्रति क्विंटल कर दी।

बाद में मिलर्स द्वारा धान के टूटन का हवाला देते हुए नुकसान के कारण मिलिंग में रूचि नहीं लेते हुए इसे 100 एवं 200 रुपये प्रति क्विंटल किए जाने की माँग की है।

मंत्री श्री सिंह ने बताया कि अन्य राज्यों में मिलर्स को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि में क्रमश: उत्तर प्रदेश में 20 रूपये प्रति क्विंटल, छत्तीसगढ़ में अरवा और उष्णा चावल के लिए 20, 40 और 45 रुपये प्रति क्विंटल, आंध्र प्रदेश में सार्टेक्स चावल के लिए 60 एवं अच्छे चावल के लिए 50 रुपये प्रति क्विंटल की दर से प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

सहकारिता मंत्री श्री अरविन्द भदौरिया ने कहा कि अन्य राज्यों की तुलना में 100 एवं 200 रुपये की राशि व्यवहारिक रूप से बहुत अधिक है। उन्होंने कहा कि मिलिंग के लिए अन्य राज्यों के मिलर्स को आमंत्रित किया जाना चाहिए। जहाँ तक टूटन का प्रश्न है टूटन अन्य राज्यों में भी होगी।

धान मिलर्स को प्रोत्साहित करने के लिए

राज्य शासन द्वारा समय-सीमा में धान उपार्जन के दौरान मिलिंग शुरू करने के लिए नीति बनाई गई, प्रोत्साहन राशि को दोगुना करने के साथ ही प्रतिभूति राशि 60 से 70 प्रतिशत की गई। मिलर्स द्वारा धान/चावल गोदाम से मिल तक ले जाने एवं लाने के लिए परिवहन की दरें निर्धारित की गईं। धान की लोडिंग अनलोडिंग करने के लिए दरें जारी की गई। पूर्व में यह लोडिंग-अनलोडिंग का प्रावधान नहीं था।

इसके अलावा मिलर्स को समय पर भुगतान किया जा सके, इसके लिए देयकों के ऑनलाइन बिलिंग का प्रावधान किया गया।

बैठक में कोरोना संक्रमण के कारण मिलर्स एसोसिएशन की ओर से सतना से ललित माहेश्वरी, बालाघाट से गंभीर संचेती, सिवनी से आशीष अग्रवाल, रीवा से दिलीप सिंह, जबलपुर से मुकेश जैन, कटनी से श्री करमचंद असरानी, दावत फूड से श्री राजेन्द्र वाधवान, रॉयल ग्रेन्स से श्री अब्दुल ताहिर, सागर से श्री क्षितिज मित्तल, श्री विज्ञान लढढा एवं श्री शंकर मेहानी ने वर्चुअली भाग लिया। संचालक खाद्य श्री तरूण पिथौडे़ एवं प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम श्री अभिजीत अग्रवाल ने वर्चुअली भाग लिया।धान मिलिंग के लिए प्रदेश के बाहर के मिलर्स आमंत्रित

d9082c91bbbdda80588c6905ef968c8a?s=117&d=mm&r=g
Girdhari Pandeyhttp://girdharipandey.com
Hi, I am Girdhari Pandey Founder of Janseva 18 News. I am a Blogger. YouTuber. Digital Marketer. Apps Developer & Web Developer...
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
Live Update